WCREU NEWS

रेलवे के निजीकरण के विरोध में 14 सितंबर से होगा जन आंदोलन

यूनियन के कार्यकर्ता जुटे जनआंदोलन की तैयारियों में

रेल को बिकने से बचाने के लिए किए जा रहे जन आंदोलन में आम जनता को भी किया जाएगा शामिल

गंगापुर सिटी 11 सितंबर।

रेलवे निजीकरण के विरोध में अब रेल कर्मचारियों का आक्रोश बढ़ता जा रहा है। रेलवे की सबसे बड़ी यूनियन वेस्ट सेंट्रल रेलवे एंप्लाइज यूनियन के कार्यकर्ताओं ने जन आंदोलन की तैयारियां प्रारंभ कर दी है। यूनियन के महामंत्री मुकेश गालव पश्चिम मध्य रेलवे के भोपाल जबलपुर कोटा मंडल के सभी शाखाओं के सचिव अध्यक्ष वैशाखा पदाधिकारियों मंडल के पदाधिकारियों से इस आंदोलन को सफल बनाने के लिए समाज के सभी वर्गों से संपर्क करने का आह्वान किया है।यूनियन के मंडल उपाध्यक्ष नरेंद्र जैन ने बताया कि केंद्र सरकार कोरोना महामारी की आड़ में रेलवे कर्मचारियों का महंगाई भत्ता डेढ़ वर्ष के लिए फ्रीज कर दिया। हमारी पुरानी समस्याओं के निदान के बारे में कोई विचार नहीं किया जा रहा, इसके साथ साथ रेलवे के 109 रेल मार्गों पर 150 ट्रेनों का संचालन प्राइवेट ऑपरेटर से कराने, 50 से अधिक रेलवे स्टेशनों का संचालन निजी कंपनियों को देने ,रेलवे में 100% एफडीआई लागू करने, रेलवे के कल कारखानों का निजीकरण, निगमीकरण करने, दिन प्रतिदिन में रेल कर्मचारियों द्वारा किए जाने वाले कार्यों को ठेकेदारों से कराए जाने के कारण रेलकर्मचारियों में जबरदस्त आक्रोश है। यूनियन के मंडल उपाध्यक्ष नरेंद्र जैन का कहना है की रेल कर्मचारियों का भविष्य अंधकार में होने जा रहा है लेकिन रेलवे के उपभोक्ताओं व रेलवे पर आश्रित लोगों के लिए भी रेलवे का निजीकरण मुसीबत बनने वाला है। उसके लिए जरूरी है कि अब आम जनता भी इस रेल के बचाने के आंदोलन से जुड़े। इसी क्रम में
आज गंगापुर सिटी में ऑल इंडिया रेलवे फेडरेशन के आह्वान पर दिनांक 14 सितंबर से 19 सितंबर तक जन आंदोलन की तैयारियों को लेकर वेस्ट सेंट्रल रेलवे एम्पलाइज यूनियन की यातायात व कैरीज शाखा की जनरल मीटिंग यूनियन कार्यालय में संपन्न हुई। मीटिंग में उपस्थित पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं को मंडल उपाध्यक्ष नरेंद्र जैन, मंडल सह सचिव श्री प्रकाश शर्मा, यातायात शाखा के सचिव हरिप्रसाद मीणा कैरीज शाखा के अध्यक्ष गजानंद शर्मा ,लोको शाखा के सचिव राजेश चाहर ,वरिष्ठ कॉमरेड इतवारी लाल ने संबोधित करते हुए जन आंदोलन के आयोजन को सफल बनाने के लिए आवश्यक चर्चा की। इस अवसर पर यूनियन के पदाधिकारी आर पी मंगल,रामकेश मीना देवी सिंह मीणा शशि शर्मा पृथ्वीराज मीणा भरोसी सैनी हरिमोहन मीणा समय सिंह मीणा भंवर सिंह मीणा मनोज शर्मा ओपी मीणा अनिल कुमार मीणा दलवीर सिंह गुर्जर अमजद खान शरीफ मोहम्मद रोडनी फ्रैंकलीन सुनील जांगिड़ कर्मवीर सिंह बलदेव मीणा देवेंद्र गुर्जर अजय गुर्जर विकास चतुर्वेदी राजू गुप्ता अशोक कुमार स्वास्थ्य सहायक दिनेश शर्मा कुबेर सिंह जुनेद राय सिंह संजय कुमार मीणा सहित दर्जनों की संख्या में पदाधिकारी व सक्रिय सदस्य उपस्थित थे।

यूनियन के मंडल उपाध्यक्ष नरेंद्र जैन एवं मंडल सह सचिव श्री प्रकाश शर्मा ने बताया कि जन आंदोलन के तहत दिनांक 14 एवं 15 सितंबर को रेलवे के सभी विभागों में गेट मीटिंग का आयोजन कर केंद्र सरकार की नीतियों का विरोध किया जाएगा।
16 सितंबर को शहर के सामाजिक, राजनीतिक संगठनों ,बेरोजगारों, युवाओं, छात्रों, व्यापारियों ,पेंशनर्स , श्रमिक संगठनों महिला संगठनों, खिलाड़ियों ,राज सरकार के कर्मचारियों ,समाज के सभी वर्गों के प्रतिनिधियों के साथ में रेलवे के निजीकरण के विरोध में परिचर्चा” रेल बचाओ देश बचाओ” का आयोजन कर रेलवे की निजी करण के विरोध के विषय में चर्चा की जाएगी।
आगामी 17 18 व 19 सितंबर को मोटरसाइकिल रैली ,मशाल जुलूस,विशाल विरोध प्रदर्शन एवं रेलवे कॉलोनी में ब्लैकआउट आदि कार्यक्रमों का बड़े स्तर पर आयोजन किया जाएगा।

Categories: WCREU NEWS

Tagged as: